जुलाई को हो सकता है मोदी कैबिनेट विस्तार, 17 से 22 मंत्री लेंगे शपथ!, इन नामों की चर्चा तेज

Modi cabinet expansion may happen on July, 17 to 22 ministers will take oath!

जुलाई को हो सकता है मोदी कैबिनेट विस्तार, 17 से 22 मंत्री लेंगे शपथ!, इन नामों की चर्चा तेज
CTN भारत डेस्क रिपोर्ट, नई दिल्ली

जुलाई को हो सकता है मोदी कैबिनेट विस्तार, 17 से 22 मंत्री लेंगे शपथ!, इन नामों की चर्चा तेज

नई दिल्ली। बहुप्रतीक्षि मोदी कैबिनेट के विस्तार (Union Cabinet Expansion) का इंतजार खत्म होने वाला है। सुत्रों के हवाले  से खबर मिल रही है कि आने वाले 3-4 दिनों में मोदी कैबिनेट का विस्तार हो सकता है।इसमें 17-22 नए मंत्री शपथ ले सकते है।इसमें मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र ,यूपी, बिहार आदि राज्यों से आने वाले सांसदों के साथ कई पूर्व मुख्यमंत्रियों को भी मंत्रिमंडल में जगह मिलने की संभावना है।मोदी कैबिनेट में अभी 53 मंत्री शामिल हैं, यह संख्या बढ़कर 79 के आसपास हो सकती है।

सुत्रों की मानें तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा संगठन महामंत्री बीएल संतोष के साथ मोदी कैबिनेट विस्तार पर बैठकें की हैं, जिसके बाद से अटकलें तेज हो गई है कि 3 दिन के अंदर अपनी कैबिनेट का विस्तार कर सकते हैं। कैबिनेट में अभी 28 मंत्री पद खाली हैं और बताया जा रहा है कि 17-22 सांसदों को मंत्री पद की शपथ दिलाई जा सकती है।संभावना जताई जा रही है कि मोदी कैबिनेट में असम के पूर्व मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल, महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे, बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी, मध्य प्रदेश से राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया शामिल किया जा सकता है।

वर्तमान में मोदी कैबिनेट  में मध्य प्रदेश के चार मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, प्रह्लाद पटेल, फग्गन सिंह कुलस्ते  सहित थावरचंद गहलोत शामिल है,ऐसे में थावरचंद गहलोत अथवा फग्गन सिंह कुलस्ते में से किसी एक को ड्रॉप किया जा सकता है।वही मध्य प्रदेश से राकेश सिंह और कैलाश विजवर्गीय के नाम की भी चर्चा जोरों पर है।इसके अलावा बिहार से लोजपा से सांसद पशुपति कुमार पारस और JDU के आरसीपी सिंह, यूपी सेअपना दल की अनुप्रिया पटेल, वरुण गांधी, रामशंकर कठेरिया, अनिल जैन, रीता बहुगुणा जोशी, जफर इस्लाम के नामों की भी चर्चा है।

वही दिवंगत नेता गोपीनाथ मुंडे की बेटी और महाराष्ट्र के बीड से सांसद प्रीतम मुंडे को भी मंत्री बनाया जा सकता है। इसी तरह उत्तराखंड से अनिल बलूनी या अजय टम्टा में से किसी एक को शामिल किया जा सकता है। पंजाब से दलित नेता केंद्र सरकार में राज्यमंत्री सोमनाथ को प्रमोशन मिल सकता है।पश्चिम बंगाल से निशीथ प्रामाणिक या दिलीप घोष, हिमाचल प्रदेश से मंत्रिमंडल में शामिल अनुराग ठाकुर को प्रमोट कर स्वतंत्र प्रभार दिया जा सकता है।वही  प्रकाश जावड़ेकर, पीयूष गोयल, धर्मेंद्र प्रधान, नितिन गडकरी, हर्षवर्धन, नरेंद्र सिंह तोमर, रविशंकर प्रसाद, स्मृति ईरानी और हरदीप सिंह पुरी अतिरिक्त मंत्रालय भी छोड़ सकते हैं।