अदब की दुनिया के लिए बुरी खबर, नहीं रहे मशहूर शायर राहत इंदौरी

Famous poet Rahat Indauri dies

अदब की दुनिया के लिए बुरी खबर, नहीं रहे मशहूर शायर राहत इंदौरी
रिपोर्ट - ब्यूरो CTN भारत, भोपाल

अदब की दुनिया के लिए बुरी खबर, नहीं रहे मशहूर शायर राहत इंदौरी

भोपाल।  प्रसिद्ध फिल्मी गीतकार और उर्दू के मशहूर शायर राहत इंदौरी का कोरोना के कारण निधन हो गया है।  देश और दुनिया में अपनी शायरी के दम पर मशहूर हो चुके राहत इंदौरी कोरोना संक्रमित पाए गए थे. राहत को इंदौर की अस्पताल में देर रात भर्ती कराया गया है. इस बात की जानकारी राहत के बेटे सतलज ने दी साथ ही राहत इंदौरी ने भी ट्वीट कर इस बाबत सूचना दी. सतलज के मुताबिक उनके पिता फिलहाल ठीक हैं. उन्हें कोविड स्पेशल अरबिंदों अस्पताल में भर्ती कराया गया था ह्रदय रोग के चलते पहले उन्हें सीएचएल हॉस्पिटल ले जाया गया था जहां से अरविंदो अस्पताल भेजा गया अचानक उन्हें हृदयाघात हुआ और डॉक्टरों के तमाम प्रयासों के बाद भी उन्हें नहीं बचाया जा सका। राहत इंदौरी ने शाम 4 बजकर 40 मिनिट पर अंतिम सांस  ली। 

राहत इंदोरी ने शुरुवाती दौर में इंद्रकुमार कॉलेज, इंदौर में उर्दू साहित्य का अध्यापन कार्य शुरू किया था। उनके छात्रों के मुताबिक वह कॉलेज के अच्छे व्याख्याता थे। फिर बीच में वो मुशायरों में व्यस्त हो गए और पूरे भारत से और विदेशों से निमंत्रण प्राप्त करना शुरू कर दिया। उनकी अनमोल क्षमता, कड़ी लगन और शब्दों की कला की एक विशिष्ट शैली थी जिसने बहुत जल्दी व बहुत अच्छी तरह से जनता के बीच लोकप्रिय बना दिया। राहत साहब ने बहुत जल्दी ही लोगों के दिलों में अपने लिए एक खास जगह बना लिया और तीन से चार साल के भीतर ही उनकी कविता की खुशबू ने उन्हें उर्दू साहित्य की दुनिया में एक प्रसिद्ध शायर बना दिया था। वह न सिर्फ पढ़ाई में प्रवीण थे बल्कि वो खेलकूद में भी प्रवीण थे,वे स्कूल और कॉलेज स्तर पर फुटबॉल और हॉकी टीम के कप्तान भी थे। वह केवल 19 वर्ष के थे जब उन्होंने अपने कॉलेज के दिनों में अपनी पहली शायरी सुनाई थी।